Bikaner Live

महंगाई राहत कैंपः ऊर्जा मंत्री ने देशनोक में शिविर का किया अवलोकन….


बीकानेर, 25 अप्रैल। ऊर्जा मंत्री श्री भंवर सिंह भाटी ने मंगलवार को देशनोक के वार्ड 1 में आयोजित महंगाई राहत शिविर में शिरकत की। उन्होंने कहा कि आमजन को महंगाई के मार से बचाने के लिए मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत की पहल पर प्रदेशभर में प्रारम्भ किए गए यह शिविर देशभर में नजीर हैं। इन शिविरों के माध्यम से पात्रता के आधार पर सभी दसों योजनाओं के लाभ की गारंटी दी जा रही है। उन्होंने कहा कि आमजन के लिए 25 लाख रुपये का इलाज, दस लाख रुपये का दुर्घटना बीमा, घरेलू उपभोक्ताओं को 100 यूनिट तथा कृषि उपभोक्ताओं को दो हजार यूनिट निःशुल्क बिजली जैसी राहत दी जा रही है। इनका अधिक से अधिक लाभ उठाएं। इस दौरान उन्होंने लाभार्थियों को मुख्यमंत्री गारंटी कार्ड सौंपे और कहा कि इनके साथ ही प्रशासन गांवों और शहरों के संग अभियान भी चलाया जा रहा है। सरकार का उद्देश्य है कि ग्रामीणों के राजस्व सहित विभिन्न विभागों से जुड़े काम घर बैठे हों। उन्होंने कहा कि अधिकारी भी सरकार की मंशा समझे और इसके अनुसार कार्य करें। उन्होंने देशनोक के वार्डों में आंगनबाड़ी केंद्रों के लिए भूमि आवंटन करने और इसके अनुसार भवन बनाने के निर्देश दिए। जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों द्वारा इन शिविरों का नियमित रूप से निरीक्षण किया जाएगा तथा आमजन से व्यवस्थाओं संबंधी फीडबैक लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सामाजिक सुरक्षा पेंशन सहित सभी योजनाओं में पात्रता के अनुसार शत-प्रतिशत पंजीकरण किया जाए। इस दौरान नगर पालिका देशनोक के चेयरमेन ओमप्रकाश मुंधड़ा, पार्षद जगदीश शर्मा, पार्षद सहस्त्रकरण, माधव दान, छात्रावास अधीक्षक दिनेश चारण आदि मौजूद रहे।
नेड़ी माता मंदिर में किए दर्शन
इसे पूर्व ऊर्जा मंत्री ने नेड़ी माता मंदिर में दर्शन किए और देश-प्रदेश में अमन और खुशहाली की कामना की। उन्होंने देशनोक के खंदेड़ा में मिट्टी भराई कार्य का अवलोकन किया। उन्होंने कहा कि इस स्थान पर पिछले चालीस वर्षों से गंदे जल भराव की समस्या है। इससे निजात दिलाने के लिए नगर पालिका द्वारा यह कार्य किया जा रहा है।
सुनी आमजन की समस्याएं
ऊर्जा मंत्री ने मंगलवार प्रातः बीकानेर स्थित अपने आवास पर आमजन की समस्याएं सुनी। उन्होंने बीकानेर और श्रीकोलायत क्षेत्र के लोगों से मुलाकात की तथा सरकार द्वारा चलाए जा रहे महंगाई राहत और अन्य अभियानों का लाभ उठाने का आह्वान किया। इस दौरान ग्रामीणों ने उन्हें पानी, बिजली, सड़क, स्कूलों में स्टाफ नियुक्त करने, पेयजल आपूर्ति सहित विभिन्न समस्याएं रखी। उन्होंने जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधिकारियों को नहरबंदी के दौरान पेयजल वितरण के पुख्ता इंतजाम करने के निर्देश दिए।

aone

खबर

http://

Related Post

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: